============================================
यू. जी. सी. संपोषित ब्लॉगिंग पर पहली संगोष्ठी कल्याण में 
============================================

कल्याण (मुम्बई) आगामी ९ दिसंबर २०११ को सुबह १० बजे से कल्याण पश्चिम स्थित के.एम. अग्रवाल कला,वाणिज्य एवं विज्ञान महाविद्यालय में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग संपोषित दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन होने जा रहा है. संगोष्ठी का मुख्य विषय है "हिंदी ब्लॉगिंग: स्वरुप,व्याप्ति और संभावनाएं ". यह संगोष्ठी शनिवार १० दिसंबर २०११ को सायं ५ बजे तक चलेगी.

संगोष्ठी के उदघाटन सत्र में डा. विद्या विन्दु सिंह (पूर्व निदेशिका उत्तरप्रदेश हिंदी संस्थान लखनऊ ),श्री रवि रतलामी (वरिष्ठ हिंदी ब्लॉगर,भोपाल,मध्य प्रदेश) एवं डा. रामजी तिवारी (पूर्व अध्यक्ष हिंदी विभाग,मुम्बई विद्यापीठ मुम्बई) उपस्थित रहेंगे .विशिष्ट अथिति के रूप में नवभारत टाइम्स मुम्बई के मुख्य उप संपादक श्री राजमणि त्रिपाठी भी उपस्थित रहेंगे. संगोष्ठी का उदघाटन संस्था के सचिव श्री विजय नारायण पंडित करेंगे.


इस संगोष्ठी का 'वेब कास्टिंग' के माध्यम से पूरी दुनिया में जीवंत प्रसारण (लाईव वेबकास्ट) भी की जायेगी,जिसकी जिम्मेदारी वेब ब्लॉगिंग के विशेषज्ञ हिंदी ब्लॉगर श्री गिरीश बिल्लोरे(जबलपुर,मध्य प्रदेश) को दी गयी है. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग संपोषित हिंदी ब्लॉगिंग पर आयोजित होने वाली यह देश की संभवत: पहली संगोष्ठी होगी. इस संगोष्ठी में प्रस्तुत किये जाने वाले शोध प्रबंधों को पुस्तकाकार रूप में प्रकाशित करने की योजना भी महाविद्यालय बना चुका है. हिंदी ब्लॉगिंग पर प्रकाशित होने वाली यह तीसरी पुस्तक होगी. उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व हिंदी ब्लॉगिंग पर पहली पुस्तक अविनाश वाचस्पति और रवीन्द्र प्रभात द्वारा संपादित पुस्तक "हिंदी ब्लॉगिंग: अभिव्यक्ति की नई क्रान्ति तथा दूसरी रवीन्द्र प्रभात के द्वारा स्वरचित पुस्तक "हिंदी ब्लॉगिंग का इतिहास" है.


इस संगोष्ठी में संपूर्ण भारत से प्रतिभागी आ रहे हैं . इनमें दिल्ली से अविनाश वाचस्पति और हरीश अरोरा, मेरठ से डा. अशोक मिश्र, लखनऊ से रवीन्द्र प्रभात और सिद्दार्थ शंकर त्रिपाठी, हिमांचल प्रदेश से केवल राम,कोलकाता से शैलेश भारतवासी और आशीष मेहता,कानपुर से मानव मिश्र,भोपाल से रवि रतलामी,जबलपुर से गिरीश बिल्लोरे,पंजाब से डा. अशोक कुमार, मुम्बई से श्रीमती अनिता कुमार,युनुस खान और अनूप सेठी इत्यादि. साथ ही वरिष्ठ साहित्यकार श्री आलोक भट्टाचार्या भी इस संगोष्ठी में सम्मिलित हो रहे हैं. विभिन्न महाविद्यालयों -विश्वविद्यालयों से जुड़े प्राध्यापक भी बड़ी संख्या में इस संगोष्ठी में शामिल हो रहे हैं. इनमें से कुछ प्रमुख नाम है -डा. राम जी तिवारी(मुम्बई),डा. आर. पी, त्रिवेदी(मुम्बई),डा. प्रकाश मिश्र(कल्याण),डा. एस. पी. दुबे (मुम्बई),डा. सतीश पाण्डेय(मुम्बई),डा. के. पी. सिंह(एटा),डा. ए.एन.राय (राय बरेली),डा. शमा खान(बुलंद शहर),डा. इश्वर पवार(पुणे),डा. गाडे(सतारा),डा. शास्त्री(कर्नाटक),डा. परितोष मणि(मेरठ),डा. अनिल सिंह(मुम्बई),डा. कमलिनी पानी ग्राही(भुबनेश्वर),डा. पवन अग्रवाल (लखनऊ),डा. मधु शुक्ला (इलाहाबाद),डा. पुष्पा सिंह (असम),डा. गणेश पवार(तिरुपति ),विभव मिश्र,मेल्बौर्ण(ऑस्ट्रेलिया),डा. सुरेश चन्द्र शुक्ल (नार्वे ),डा. शशि मिश्र (मुम्बई),डा. सुधा (दिल्ली),डा. विनीता(दिल्ली),डा. बलजीत श्रीवास्तव(बस्ती),डा. विजय अवस्थी(नासिक),डा. संजीव दुबे(मुम्बई),डा. वाचस्पति (आगरा),डा. संजीव श्रीवास्तव(आगरा),डा. सजीव श्रीवास्तव(मथुरा) ,डा. दी. के. मिश्रा (झांसी) इत्यादि.


दो दिवसीय यह संगोष्ठी कुल छ: सत्रों में विभाजित है. उदघाटन सत्र एवं समापन सत्र के अतिरिक्त चार चर्चा सत्र होंगे. पूरी संगोष्ठी का संयोजन महाविद्यालय के हिंदी विभाग के प्रभारी डा. मनीष कुमार मिश्रा कर रहे हैं. चार चर्चा सत्रों के लिए चार सत्र संयोजक न्युक्त किये गए हैं. क्रमश: डा. आर. वी. सिंह (उप प्राचार्य,अग्रवाल कॉलेज),डा. श्रीमती रत्ना निंबालकर (उप प्राचार्य, अग्रवाल महा विद्यालय),डा. वी. के. मिश्र (वरिष्ठ प्राध्यापक) एवं सी ए महेश भिवंदिकर (वरिष्ठ प्राध्यापक अग्रवाल कॉलेज) रहेंगे . महाविद्यालय की प्राचार्या डा. अनिता मानना संगोष्ठी से जुडी तैयारियों की व्यक्तिगत तौर पर देख-रेख कर रही हैं.


इस संगोष्ठी की मुख्य बातें यह है कि यह विश्वविद्यालय अनुदान आयोग से संपोषित हिंदी ब्लॉगिंग पर संभवत: पहली संगोष्ठी है, पूरे दो दिन की संगोष्ठी का वेब कास्टिंग के जरीय इसका इंटरनेट पर सीधा प्रकाशन होगा, इस संगोष्ठी में प्रस्तुत किये जाने वाले शोध आलेखों को पुस्तकाकार रूप में प्रकाशित किया जा रहा है जो कि हिंदी ब्लॉगिंग पर प्रकाशित होने वाली तीसरी पुस्तक होगी. हिंदी चिट्ठाकारों एवं हिंदी प्राध्यापकों को एक साथ राष्ट्री मंच प्रदान करने का यह नूतन प्रयोग होगा.

कार्यक्रम का संपूर्ण विवरण इसप्रकार है :


(कल्याण से डा. मनीष कुमार मिश्रा की रपट)

6 comments:

Alpana Verma said... November 29, 2011 at 7:21 PM

अनेकानेक बधाईयाँ .

काजल कुमार Kajal Kumar said... November 29, 2011 at 7:25 PM

निमंत्रण पत्र देख कर तो यही लग रहा है कि साहित्य के डॉक्टर लोगों ने अपने अस्पताल में, ब्लागर कहे जाने वाले कुछ गिनीपिग भी बुलाए हैं :-)

रचना said... November 30, 2011 at 8:52 AM

kajal kumar ji ki tippani kaa saharsh anumodan karteee hun

मनोज पाण्डेय said... November 30, 2011 at 12:25 PM

कुछ तो लोग कहेंगे,लोगों का काम है कहना ....मेरी और से अनेकानेक बधाईयाँ !

अरविन्द शर्मा said... November 30, 2011 at 12:26 PM

बहुत-बहुत शुभकामनाएं !

प्रवीण शाह said... November 30, 2011 at 8:11 PM

.
.
.

kajal kumar ji ki tippani kaa saharsh anumodan kartaaa hun... :)

जब डॉक्टरों का हाथ सर पर रहेगा तो हिन्दी ब्लॉगिंग का स्वर्णयुग आने में देर ही कितनी है अब, आखिर हिन्दी ब्लॉगिंग का मर्म तो यही जानते हैं...

लगे रहो यारों...



...

 
Top