किशोर श्रीवास्तव, नई दिल्ली द्वारा सामाजिक, साम्प्रदायिक व अन्य विसंगतियों पर कटाक्ष करती व सद्भाव आदि पर निर्मित कार्टूनों और छोटी-छोटी रचनाओं पर आधारित लगभग 100 रंगीन पोस्टरों की प्रदर्शनी ‘खरी-खरी’ ने अपने प्रदर्शन के 25 वर्ष पूरे कर लिए हैं।

       प्रदर्शनी में शामिल अनेक कार्टून समय-समय पर लोटपोट, सा. हिंदुस्तान,दैनिक सन्मार्ग,सत्यकथा, नूतन कहानियां, पराग, नवनीत, नवभारत टाइम्स,सुपर ब्लेज, शुभ तारिका, नारी जागरण, राष्ट्र किंकर, द संडे पोस्ट एवं दैनिक जागरण आदि विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में छपते रहे हैं। इस प्रदर्शनी का पहली बार 1985 में झांसी में प्रदर्शन किया गया था। उसके बाद से लेकर अब-तक विभिन्न साहित्यिक/सामाजिक, शैक्षिक और सांस्कृतिक संस्थाओं के माध्यम से इस प्रदर्शनी के सैकड़ों आयोजन दिल्ली सहित आगरा, मथुरा,खुर्जा, गाजियाबाद, झांसी, ललितपुर, देवबंद (उ.प्र), जबलपुर (म.प्र.),अंबाला छावनी (हरियाणा), शिलांग (मेघालय), बेलगाम (कर्नाटक) व गोवा (महाराष्ट्र) आदि शहरों में विभिन्न समारोहों के दौरान व स्वतंत्र रूप से संपन्न हो चुके हैं।     प्रदर्शनी में समय-समय पर बदलाव भी किया जाता रहा है। प्रदर्शनी के पोस्टरों और दर्शकों की प्रतिक्रियाओं को ‘खरी-खरी’ नाम
से पुस्तक का रूप भी दिया गया है।

       इसके निःशुल्क आयोजन हेतु हम सब साथ साथ के पते पर जवाबी पत्र सहित संपर्क किया जा सकता है।

-संयोजक
पताः  हम सब साथ साथ पत्रिका, 916- बाबा फरीदपुरी, वेस्ट पटेल नगर, नई
दिल्ली-110008
मो. 9868709348
email:kishorsemilen@gmail.com, kishor47@live.com Blogs:
kharikharicartoons. blogspot. com & srivastavakishor.blogspot.com

0 comments:

 
Top